देश

कर्नाटक में BJP को झटका, हैदराबाद की मेयर विजयलक्ष्मी और तेजस्विनी गौड़ा कांग्रेस में शामिल

नई दिल्ली:

कर्नाटक में विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) पद से इस्तीफा देने के कुछ दिनों बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नेता तेजस्विनी गौड़ा शनिवार को नयी दिल्ली में कांग्रेस में शामिल हो गईं. उधर, हैदराबाद में ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) की मेयर विजयलक्ष्मी आर गडवाल भी कांग्रेस में शामिल हुईं. नयी दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी महासचिव जयराम रमेश और पार्टी के मीडिया और प्रचार विभाग प्रमुख पवन खेड़ा की उपस्थिति में गौड़ा यहां कांग्रेस में शामिल हुईं.

इस दौरान गौड़ा ने आरोप लगाया कि भाजपा संवैधानिक और लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास नहीं करती. गौड़ा 2004 से 2009 के बीच कांग्रेस सांसद रहीं और 2014 में भाजपा में शामिल हो गई थीं.

यह भी पढ़ें

जयराम रमेश ने कहा ‘हम कर्नाटक की राजनीति में सक्रिय नेता तेजस्विनी गौड़ा का कांग्रेस में स्वागत करते हैं. हमें पूरा विश्वास है कि तेजस्विनी जी आने वाले चुनाव में सक्रिय रहेंगी. तेजस्विनी 2004 से 2009 के बीच कांग्रेस सांसद के तौर पर विभिन्न मुद्दों पर मुखर रहीं. हमें खुशी है कि वह कांग्रेस में लौट आयी हैं.”

गौड़ा ने कहा कि कांग्रेस महज जबानी जमा खर्च में नहीं, बल्कि काम में विश्वास करती है और इतिहास इसका साक्षी है.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा संवैधानिक और लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास नहीं करती. पूर्व पत्रकार गौड़ा ने विश्वास जताया कि कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव में कर्नाटक की 28 में से 23 सीट जीतेगी.

गौड़ा 2014 में भाजपा में शामिल होने के बाद 2018 में विधायक बन गईं. वह भाजपा की प्रवक्ता भी रही थीं. एमएलसी के रूप में उनका कार्यकाल जून 2024 में समाप्त होना था.

यह भी पढ़ें :-  लालू यादव तय करेंगे RJD के नए सहयोगी और लोकसभा उम्मीदवार, पार्टी ने दी अहम जिम्मेदारी
वह कनकपुरा क्षेत्र से 14वीं लोकसभा (2004-2009) की सदस्य थीं. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में जनता दल (सेक्युलर) के प्रत्याशी पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा को हराया था.

वहीं, हैदराबाद में तेलंगाना के मुख्यमंत्री ए रेवंत रेड्डी, कांग्रेस की तेलंगाना प्रभारी दीपादास मुंशी और अन्य नेताओं की उपस्थिति में (जीएचएमसी) की मेयर विजयलक्ष्मी आर गडवाल कांग्रेस में शामिल हुईं.

विजयलक्ष्मी के कांग्रेस में शामिल होने से लोकसभा चुनाव में जीएचएमसी सीमा में पार्टी को बढ़त मिलने की उम्मीद है. हाल के विधानसभा चुनावों में जीएचएमसी की सीमा के अंतर्गत आने वाली 24 सीट में से कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत पाई थी, हालांकि उसने बहुमत हासिल किया था.

विजयलक्ष्मी के पिता और बीआरएस के राज्यसभा सदस्य के केशव राव ने शुक्रवार को कहा था कि वह कांग्रेस में लौट आएंगे. केशव राव ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी से मुलाकात की.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button