देश

जम्मू-कश्मीर : राजौरी और पुंछ में आतंकी मॉड्यूल 'लश्कर-ए-तैयबा' का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार

जम्मू:

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने राजौरी और पुंछ के सीमावर्ती जिलों में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. वहीं, इस मॉड्यूल के सात लोगों की पहचान की गई है जिसमें से तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. ये सभी सीमा पार से जिले में ड्रोन के माध्यम से गिराए गए हथियार, गोला-बारूद, विस्फोटक, नकदी और नशीले पदार्थों को प्राप्त कर उनकी तस्करी करने में शामिल थे.

पुलिस ने पाकिस्तान में बैठे इस मॉड्यूल के सरगना और लश्कर-ए-तैयबा के मोहम्मद कासिम के लिए 10 लाख रुपये के इनाम वाला एक पोस्टर जारी किया है.

यह भी पढ़ें

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) आर.आर. स्वैन ने यहां संवाददाताओं से कहा, ”जोन पुलिस और अपराध जांच ब्यूरो (सीआईबी) ने रणनीति तैयार कर राजौरी में सीमा पार से ड्रोन के माध्यम से गिराए गए हथियार, गोला-बारूद, परिष्कृत विस्फोटक उपकरण (आईईडी) और नशीले पदार्थों की तस्करी में शामिल सात व्यक्तियों की पहचान की है. ”

उन्होंने बताया, ”आरोपियों के खिलाफ मामले दर्ज कर लिए गए हैं और उनके परिसरों की तलाशी ली गई. पिछले 24 घंटों के दौरान दस स्थानों पर तलाशी ली गई और सात लोगों की पहचान की गई. इनमें से तीन को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था.”

डीजीपी ने बताया कि एलईटी के इस मॉड्यूल के सदस्यों को पाकिस्तान से ड्रोन के माध्यम से हथियार, गोला-बारूद, आईईडी, नकदी और नशीले पदार्थों की खेप बरामद होती थी, जिसके बाद वे आगे इसकी तस्करी करते थे.

पुलिस ने इस मॉड्यूल के जिन लोगों को गिरफ्तार किया है उनमें गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत जेल में बंद कुख्यात तालिब शाह की पत्नी गुलशन नाज, इम्तियाज अहमद और बुद्धल इलाके के आबिद शाह शामिल हैं. वे पाकिस्तान के द्वारा ड्रोन से भेजे गए हथियार, गोला-बारूद सहित विस्फोटक सामग्री प्राप्त करते थे.

यह भी पढ़ें :-  पंजाब : AAP विधायक जसवंत सिंह बैंक फ्रॉड मामले में अरेस्ट, ED के 3-4 समन मिलने पर भी नहीं हुए थे पेश

उन्होंने कहा, ”हमारे पास उनके खिलाफ डिजिटल और इलेक्ट्रॉनिक सबूत हैं. वे पाकिस्तान में बैठे अपने सरगना के साथ संपर्क में थे. इसके अलावा ये लोग आगे अन्य लोगों के साथ भी संपर्क में थे. अब ये जांच की जा रही है कि इन्होंने आगे किन लोगों को पैसे वितरित किए हैं.”

स्वैन ने कहा, ”इस मॉड्यूल के सदस्यों को पाकिस्तान से लाखों रुपयों में पैसा आया है और कई लोगों में इसे वितरित भी किया गया है.

डीजीपी ने कहा कि उनका सरगना मोहम्मद कासिम उर्फ सलमान उर्फ सुलेमान है जो वर्तमान में पाकिस्तान में है. उन्होंने कहा, ”वह लश्कर-ए-तैयबा का नेता है. उसे भारत सरकार ने नामित आतंकवादी करार दिया है. हमने कासिम पर दस लाख रुपये का इनाम घोषित किया है.”

उन्होंने बताया कि कासिम एलईटी के इस मॉड्यूल के सदस्यों के लिए हथियार, विस्फोटक सामग्री, नकदी और नशीले पदार्थ भेजता था. वह जम्मू के कटरा और नरवाल में हुए बस विस्फोटों में शामिल था.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button