दुनिया

US: भारतीय अमेरिकी दंपति को जबरन मजदूरी कराने के मामले में 20 साल की सजा

दंपति ने पढ़ाई का लालच देकर यूएस बुलाकर लड़के से जबरन कराई मजदूरी.

नई दिल्ली:

अमेरिका के वर्जीनिया में एक भारतीय अमेरिकी कपल को अपने दूर के रिश्तेदार से जबरदस्ती मजदूरी कराने के इल्जाम में 20 साल की सजा सुनाई गई है. वर्जीनिया में संघीय अदालत ने बताया कि दोनों अपने दूर के रिश्तेदार से जबरन गैस स्टेशन और किराने की दुकान में काम करवाते थे. वर्जीनिया में भारतीय अमेरिकी कपल हरमनप्रीत सिंह और कुलबीर सिंह को अदालत द्वारा 20 साल की सजा सुनाई गई है. 

यह भी पढ़ें

मामले में सामने आया है कि दोनों अपने रिश्तेदार से किराने की दुकान में कैशियर का काम कराने के अलावा, खाना बनवाते थे और साफ-सफाई भी कराते थे. इस मामले में 30 वर्षीय हरमनप्रीत सिंह और 43 वर्षीय कुलबीर कौर को 20 साल की सजा सुनाई गई है. साथ ही रिहाई के 5 साल बाद तक भी दोनों पर निगरानी रखी जाएगी. इतना ही नहीं अदालत ने दोनों पर 250,000 डॉलर का फाइन भी लगाया है.

न्याय विभाग के नागरिक अधिकार प्रभाग की सहायक अटॉर्नी जनरल क्रिस्टन क्लार्क ने कहा कि ”इस कपल ने पीड़ित के विश्वास और संयुक्त राज्य अमेरिका में स्कूल जाने की उसकी इच्छा का शोषण किया और फिर उसका शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न किया. उन्होंने ऐसा इसलिए किया ताकि वो उसे अपने लिए काम पर रख सकें”.

हरमनप्रीत सिंह और कुलबीर कौर ने पीड़ित के इमिग्रेशन डॉक्यूमेंट्स भी जब्त कर लिए थे ताकि वो उसे अपना काम करने के लिए धमका सकें.  वर्जीनिया के पूर्वी जिले के लए अमेरिकी अटॉर्नी जेसिका डी एबर ने कहा, ”दंपति ने पीड़ित को संयुक्त राज्य अमेरिका में शिक्षा के झूठे वादे का लालच देकर बुलाया था और इसके बदले में उसे अपमानजनक स्थिति में रखा और उसे मानसिक और शारीरिक शोषण का सामना करना पड़ा.”

यह भी पढ़ें :-  "हमास के खिलाफ जंग में इजरायल को आम लोगों की हत्या नहीं करने दे सकते..." : कतर के अमीर

एबर ने आगे कहा, ”जबरन काम कराना और मानव तस्करी एक जघन्य अपराध है और इसके लिए हमारे समाज में कोई जगह नहीं है. इस मामले में हुए न्याय के लिए मैं अपने अभियोजकों, एजेंटों और सहायक कर्मचारियों की हमारी टीम का आभार व्यक्त करती हूं.”

अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक, सबूतों से पता चला है कि जब पीड़ित ने अपने इमीग्रेशन डॉक्यूमेंट्स वापस मांगे तो हमनप्रीत सिंह ने उसके बाल खींचे, थप्पड़ और लात मारी और तीन अलग-अलग मौकों पर पीड़ित द्वारा एक दिन की छुट्टी लेने की कोशिश पर उसे रिवॉल्वर से धमकाया भी था.

(इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button