देश

Video: सिक्किम में बाढ़ की वजह से बह गया पुल, प्रभावित इलाके में विधायक जिपलाइन से नदी पार कर पहुंचे

सिक्किम में अचानक आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है. सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसएसडीएमए) ने शनिवार शाम को अपने नवीनतम बुलेटिन में कहा कि लापता लोगों की संख्या घटकर अब 81 हो गई है, जिनके लिए तलाश अभियान जोरों पर है. इस बीच एक विधायक ने बाढ़ प्रभावित सिक्किम में एक उफनती नदी के पार उस इलाके की स्थिति का जायजा लिया, जो बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है. समदुप लेप्चा लाचेन मंगन निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं. चुंगथांग, जिसमें 1200 मेगावाट के तीस्ता III बांध के कुछ हिस्से बह गए, उनके निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है.

यह भी पढ़ें

बुधवार को राज्य को अचानक आई बाढ़ का प्रकोप झेलना, जिसके परिणामस्वरूप कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई. शनिवार को, लेप्चा मंगन जिले के पेगोंग गांव से चुंगथांग तक एक टीम का नेतृत्व कर रहे थे, जहां के निवासी अपर्याप्त राहत प्रयासों की शिकायत कर रहे थे. चुंगथांग की ओर जाने वाला एकमात्र लॉग ब्रिज बह गया है और अपनी टीम के सुझाव पर, लेप्चा ने उनके लिए उपलब्ध एकमात्र मार्ग अपनाने का फैसला किया. एक वीडियो में विधायक को दो रस्सियों से लटका हुआ दिखाया गया है क्योंकि सुरक्षाकर्मी उन्हें थोड़ा धक्का दे रहे हैं.

लेप्चा को शुरू में मुस्कुराते हुए देखा जाता है, लेकिन ये जोखिमभरा था. सूत्रों ने कहा कि लेप्चा और उनकी टीम, जिसमें पुलिस उपमहानिरीक्षक और चुंगथांग के उप-विभागीय मजिस्ट्रेट भी शामिल थे, अचानक आई बाढ़ के बाद कटे हुए शहर में पहुंचने वाले प्रशासन के पहले वरिष्ठ अधिकारी थे. एसएसडीएमए ने कहा कि बुधवार तड़के बादल फटने से अचानक आई बाढ़ के चलते राज्य के चार जिलों में 41,870 लोग प्रभावित हुए हैं, मंगन जिले को आपदा का सबसे ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ा, जहां लगभग 30,300 लोग आपदा की चपेट में आ गए हैं. अन्य तीन प्रभावित जिले गंगटोक, पाकयांग और नामची हैं. 

यह भी पढ़ें :-  नासिर-जुनैद की हत्या के कारण भड़की थी नूंह में हिंसा :पुलिस की चार्जशीट

बुधवार को राज्य में अचानक आई बाढ़ के बाद से 8 सैनिकों सहित कम से कम 53 लोग मारे गए हैं. सिक्किम सरकार ने बताया है कि 1,173 घर गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं और 2,000 से अधिक लोगों को बचाया गया है. कम से कम 14 पुल डूब गए हैं या बह गए हैं, जिससे उत्तरी सिक्किम से संपर्क बाधित हो गया है. शुक्रवार को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद अधिकारियों ने कहा था कि चुंगथांग के लिए सड़क संपर्क फिर से खोलने को प्राथमिकता दी जा रही है. मृतकों के परिजनों के लिए 4 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया गया है.

ये भी पढ़ें : क्‍या है इजराइल का ‘आयरन डोम सिस्‍टम’…?, फिलिस्‍तीन अभी तक नहीं ढूंढ पाया इसकी काट

ये भी पढ़ें : लद्दाख में जारी तनातनी के बीच टेरिटोरियल आर्मी में पांच चीनी भाषा के जानकारों की भर्ती

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button