दुनिया

"हम चाहते हैं भारत हस्तक्षेप करे और वार्ता में हमारी मदद करे": The Hindkeshariसे बोले फिलिस्तीन के राजदूत

इजरायल-फिलिस्तीन युद्ध

इजरायल और गाजा युद्ध का आज चौथा दिन है. यह संघर्ष शनिवार को हमास के हमले के साथ शुरू हुआ. अब इजरायल भी हमास को मुंह तोड़ जवाब दे रहा है. इजरायल और फिलिस्तीन के बीच चल रहे युद्ध (israel Palestine War) के बीच एनडीटीवी ने भारत में फिलस्तीन के राजदूत अदनान अबू अलहैजा के साथ बातचीत की है. फिलिस्तीन के राजदूत का कहना है कि जो भी हुआ है वह वेस्ट बैंक में इज़रायल की हरकतों की प्रतिक्रिया है. उन्होंने कहा कि हम सामान्य नागरिकों को मारे जाने के ख़िलाफ़ हैं और हम इस संकट का शांतिपूर्ण हल चाहते हैं. इसके साथ ही उन्होंने इजरायल के साथ वार्ता के लिए भारत का सहयोग मांगा है.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-गाजा पट्टी के आसपास 1,500 हमास आतंकियों के शव मिले : इज़रायली सेना | Updates

‘वार्ता में मदद के लिए यूरोपीय देशों के संपर्क में’

फिलिस्तीन के राजदूत ने कहा कि इजरायल के साथ वार्ता में मदद के लिए हमारे राष्ट्रपति कई यूरोपीय देशों के साथ संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि युद्ध के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय उत्तरदायी है. अदनान अबू अलहैजा ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र में फिलस्तीन की तरफ से 800 से ज़्यादा प्रस्ताव दिए गए हैं. इज़रायल ने कभी भी किसी एक प्रस्ताव को भी लागू नहीं किया. 

फिलिस्तीन के राजदूत का कहना है कि इजरायल अगर कब्ज़ाए गए फिलस्तीनी इलाकों से नियंत्रण हटा लेगा तो हमला भी रुक जाएगा. ग़ाज़ा में इज़रायल के हमले में 133 से ज़्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि इज़रायल का बयान है कि वे बिजली और भोजन की सप्लाई रोक देंगे, यह युद्ध है. उन्होंने नेतन्याहू सरकार को इज़रायल के इतिहास में सबसे ज़्यादा क्रूर सरकार करार दिया. 

यह भी पढ़ें :-  गाजा, लेबनान पर रातभर किये गए हमलों के बाद इजरायली PM नेतन्याहू ने टॉप जनरलों से की मुलाकात

Video : इजरायल-गाजा युद्ध : नए हथियार, नई तकनीक के साथ हमास ने किया हमला, चौंका इज़रायल

‘भारत इजरायल-फिलिस्तीन दोनों का दोस्त, करे हस्तक्षेप’

 

फिलस्तीन के राजदूत अदनान अबू अलहैजा का कहना है कि इजरायल शनिवार से पहले तक इस साल में 263 से ज़्यादा फिलस्तीनियों को मार चुका है. वह चाहते हैं कि भारत इस मामले में हस्तक्षेप करे और वार्ता में फिलिस्तीन की मदद करे. उनका कहना है कि भारत दोनों का ही मित्र देश है. वह नहीं चाहते कि इस संघर्ष की वजह से सामान्य नागरिकों की मौत हो.

बता दें कि 6 अक्टूबर को गाजा पट्टी से हमास के आतंकियों ने इजरायल पर 5 हजार रॉकेट दागे थे, जिसके बाद इजरायल ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए गाजा पर एयर स्ट्राइक कर दी. मंगलवार को चौथे दिन भी दोनों के बीच युद्ध जारी है. अब तक इन हमलों में दोनों तरफ से 1600 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. इजरायली सेना का दावा है कि गाजा पट्टी पर 1500 हमास आतंकियों के शव पाए गए हैं. अगर इनको भी जोड़ दिया जाए तो तो मरने वालों की संख्या करीब दोगुनी हो जाएगी.

ये भी पढ़ें-“हमने युद्ध शुरू नहीं किया लेकिन खत्‍म करेंगे” : इजरायल के PM नेतन्‍याहू की हमास को चेतावनी

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button