दुनिया

इजराइल पर हमास के हमले के बाद क्यों चर्चा में है 6 अरब डॉलर की US-ईरान डील?

फ़िलिस्तीनी आतंकी ग्रुप हमास के शनिवार को हुए हमले और इजराइल (Israel-Hamas War) की जवाबी कार्रवाई में अब तक 1100 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. वहीं अमेरिका में राष्ट्रपति उम्मीदवार की दौड़ में चल रहे लोगों का आरोप है कि अमेरिका का पैसा इजराइल पर हमले के लिए इस्तेमाल किया गया है. जिस पर अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने जवाब दिया है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक रविवार को उन्होंने कहा कि ईरान अमेरिका-ईरानी कैदियों की अदला-बदली के सौदे के रूप में रुकी हुई 6 अरब डॉलर की धनराशि में से ईरान ने एक भी डॉलर खर्च नहीं किया है. ब्लिंकन ने ये भी कहा कि अब तक इस बात का कोई सबूत नहीं मिला है कि इजराइल पर हुए हमले के लिए हमास को ईरान ने समर्थन दिया है या फिर ईरान का इसके पीछे कोई भी हाथ है. 

यह भी पढ़ें

ये भी पढे़ं-Ground Report: “रॉकेट, तबाही, सुनसान सड़कें…”: ऐसा है गाजा से 10 किमी दूर अश्कलोन शहर का मंजर

ईरान कैदी अदला-बदली सौदा क्या था?

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन की मंजूरी के बाद एक डील की डिटेल सार्वजनिक की गई थी. जिसमें तेहरान द्वारा दक्षिण कोरिया में जमा किए गए 6 अरब डॉलर के बदले हिरासत में लिए गए पांच अमेरिकी नागरिकों को छोड़ने की अनुमति दी गई थी. साथ ही अमेरिका में पकड़े गए पांच ईरानियों को छोड़े जाने पर भी सहमति बनी थी. यह डील अमेरिका और ईरान के बीच हुई थी. 

6 बिलियन डॉलर क्या था?

ईरान का 6 बिलियन डॉलर दक्षिण कोरियाई बैंकों में अमेरिका की वजह से फंसा हुआ था. पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सरकार के दौरान वाशिंगटन ने 2019 में ईरान के तेल निर्यात पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने और उसके बैंकिंग क्षेत्र पर प्रतिबंध लगाने के बाद, ईरानी तेल के राजस्व को सियोल में रोक दिया गया था.

यह भी पढ़ें :-  हमास की गिरफ्त में फंसे 240 इजरायली नागरिकों में सबसे छोटा बंधक नौ महीने का बच्चा

अब 6 बिलियन डॉलर कहां हैं?

ईरान का पैसा उसे वापस नहीं दिया गया था. कतर का केंद्रीय बैंक उस फंड की देखरेख कर रहा है, जो अभी भी दोहा में है. ब्लिंकन ने रविवार को सीएनएन के “स्टेट ऑफ द यूनियन” को बताया कि फंसा हुआ पैसे में यूएस टेक्सपेयर डॉलर शामिल नहीं है. उन्होंने कहा कि यह ईरान के रिसोर्सेज थे जो कि ईरान से अपना तेल बेचकर जमा किए थे. यह पैसा दक्षिण कोरिया के एक बैंक में फंस गया था.

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि ईरान कैदी सौदे की शर्तों के तहत, पैसा का उपयोग सिर्फ मानवतावादी उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है, जिसमें आयात के लिए ईरान के बाहर खाना या अन्य मान खरीदना भी शामिल है. आतंकवाद और वित्त के लिए अमेरिकी ट्रेजरी के अवर सचिव ब्रायन नेल्सन ने कहा कि सितंबर में पांच अमेरिकी नागरिकों की रिहाई सुनिश्चित करने की व्यवस्था के हिस्से के रूप में दोहा में प्रतिबंधित खातों में रखा गया सारा पैसा दोहा में ही है. इसमें से एक भी पैसा खर्च नहीं किया गया है. ये प्रतिबंधित पैसा ईरान को नहीं दिया जा सकता है.  इसका उपयोग सिर्फ भविष्य के मानवतावादी उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है. इसके अलावा कोई भी सुझाव । गलत और भ्रामक है.

डील के आलोचक क्या कह रहे हैं?

अमेरिका में होने वाले  2024 के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने की होड़ में लगे अधिकांश रिपब्लिकन ने जो बाइडेन पर आरोप लगाया है कि अमेरिकी टेक्सपेयर्स ने इजराइल पर हमले के लिए पैसा दिया है. उन्होंने बाइडेन के  ईरान समझौते को हमलों से जोड़ने की कोशिश की, जिस पर अब सफाई दी गई है. 

यह भी पढ़ें :-  हमास के चंगुल से बंधकों की रिहाई के बीच जो बाइडेन ने किया गाजा सीजफायर को बढ़ाने का समर्थन

ये भी पढे़ं-इजराइल ने रात भर में हमास के 500 ठिकानों को बनाया निशाना, जानें 10 बड़ी बातें | LIVE UPDATES

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button