देश

"मेरे बच्चों को क्यों मारा?" : आयुष, आहान के पिता की मांग-बदायूं पुलिस जावेद से उगलवाए राज

बदायूं में मारे गए बच्चों के पिता की पुलिस से मांग.

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के बदायूं में आयुष और आहान की हत्या (Badaun Double Murder Case) से उनका परिवार बुरी तरह से आहत हैं. मां संगीता का रो-रोकर बुरा हाल है तो वहीं पिता भी काफी निराश हैं. बच्चों के पिता विनोद वह यह जानना चाहते हैं कि आखिर साजिद ने उनके मासूम बच्चों की हत्या क्यों की. वह अपने जिगर के टुकड़ों की हत्या की वजह जानना चाहते हैं. पेशे से ठेकेदार विनोद ने पुलिस (Badaun Police) ने न सिर्फ जावेद की गिरफ्तारी की अपील की बल्कि यह भी कहा कि जावेद से ये पूछा जाए कि आखिर उसने ऐसा घिनौना काम क्यों किया.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-“मैंने कुछ नहीं किया…”, बदायूं के मासूमों के हत्यारे के भाई जावेद ने बरेली में किया सरेंडर

“जावेद का एनकाउंटर न किया जाए”

बच्चों के पिता ने आशंका जताई कि इस घटना के पीछे कोई और भी हो सकता है. पूछताछ में ही पता चल सकेगा कि उनके बच्चों की हत्या में कितने लोगों का हाथ है. हो सकता है कि उनके बेटे के साथ पत्नी को भी मार दिया जाता. विनोद ने पुलिस से अपील की है कि जावेद का एनकाउंटर न किया जाए बल्कि उसको गिरफ्तार किया जाए. बच्चों के पिता ने जिस जावेद के एनकाउंटर न करने की अपील पुलिस से की है, उसे गिरफ्तार किया जा चुका है. उसने खुद बरेली पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है. 

आयुष और आहान के पिता ने पुलिस से मामले की जांच की अपील की है, जिससे उनके बच्चों की हत्या का कारण पता चल सके. उनका कहना है कि अब उनके पास सिर्फ एक ही बेटा बचा है, वह सरकार से भी अपने लिए सुरक्षा की अपील करते हैं, ताकि उनका परिवार सुरक्षित रह सके. विनोद ने पुलिस की कार्रवाई से संतुष्टि जताते हुए साजिद के एनकाउंटर पर भी खुशी जाहिर की. हालांकि उन्होंने जावेद का एनकाउंटर न किए जाने की अपील पुलिस से की, जिससे वह उनके बच्चों की मौत का राज उगल सके.

“मेरी किसी से कोई दुश्मनी नहीं”

विनोद ने बताया कि उनकी किसी के साथ भी कोई दुश्मनी नहीं है. वह दुश्मनी वाला कोई काम नहीं करते हैं. वह दूसरों की मदद करने में विश्वास रखते हैं. ईश्वर में उनकी अटूट आस्था है, वह हर साल ईश्वर के नाम पर भंडारा करवाते हैं और स्कूलों में भी दान देते हैं. 

यह भी पढ़ें :-  बदायूं डबल मर्डर केस : आरोपी ने दोनों बच्चों पर 23 बार किया था धारदार हथियार से हमला, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने

बता दें कि उत्तर प्रदेश के बदायूं में 19 मार्च को साजिद नाम के नाई की दुकान चलाने वाले शख्स ने पड़ोस में रहने वाले दो मासूमों की निर्मम हत्या (Badaun Double Murder Case) कर दी थी. इस घटना से क्षेत्र ही नहीं बल्कि देशभर में गुस्से की लहर है. अब तक ये पता नहीं चल सका है कि आखिर साजिद ने बच्चों की जान क्यों ली. सूत्रों के मुताबिक, दोनों मासूमों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. इसमें बताया गया है कि दोनों बच्चों आयुष और आहान पर धारदार हथियार से हमला किया गया था. बड़े बेटे आयुष पर साजिद ने 14 बार वार किया था और आहान पर 9 बार वार किया था.

पैसे मांगने के बहाने घर में घुसकर बच्चों की हत्या

आरोपी साजिश और जावेद विनोद के घर के पास ही नाई की दुकान चलाते थे.  मंगलवार शाम को साजिद पैसे मांगने के बहाने बच्चों के घर पहुंचा था. बच्चों की मां संगीता से उसने अपनी पत्नी के प्रेग्नेंट होने का हवाला देते हुए 5 हजार रुपए मांगे थे. पति से पूछकर संगीता ने उसे रुपए दे दिए. इसके बाद वह साजिद के लिए चाय बनाने गई थी. इसी दौरान वह संगीता के बच्चों को छत पर ले गया और बड़े बेटे आयुष और छोटे बेटे आहान का गला रेत दिया. वहीं तीसरे बेटे पीयुष को भी मारने की कोशिश की, लेकिन वह भागने में कामयाब हो गया. इस तरह से साजिद दोनों मासूमों की जान लेने के बाद बाहर खड़े अपने भाई जावेद के साथ बाइक पर फरार हो गया.हालांकि साजिद पुलिस की मुठभेड़ में मारा गया लेकिन जावेद वहां से दिल्ली भाग गया था. लेकिन अब उसने बरेली पहुंचकर सरेंडर कर दिया है. लेकिन अब तक ये पता नहीं चल सका है कि आखिर साजिद ने बच्चों को क्यों मारा. बच्चों के पिता ने इस गुत्थी को सुलझाने की अपील पुलिस से की है.

यह भी पढ़ें :-  "बीवी प्रेग्नेंट है, 5 हजार दे दो...": मदद करने वाली महिला के 2 बच्चों को शख्स ने कैसे मारा? बदायूं पुलिस की जुबानी

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button