देश

"बीवी प्रेग्नेंट है, 5 हजार दे दो…": मदद करने वाली महिला के 2 बच्चों को शख्स ने कैसे मारा? बदायूं पुलिस की जुबानी

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बदायूं में मंगलवार शाम को दो मासूमों की निर्मम हत्‍या (Badaun Child Murder) कर दी गई. मंडी चौकी से कुछ ही दूरी पर इस वारदात को अंजाम दिया गया. इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को मुठभेड़ में मार गिराया गया है. यूपी पुलिस का कहना है कि नाई की दुकान चालने वाले साजिद नाम का शख्स 8 बजे के करीब अपनी दुकान बंद कर सामने रहने वाले विनोद के घर पहुंच गया. दोनों ही एक दूसरे को जानते थे. दोनों के बीच कोई पुराना विवाद चल रहा था. पुलिस के मुताबिक, साजिद ने विनोद के घर जाकर उसकी पत्नी से चाय बनाने को कहा. इसी दौरान उसने विनोद के तीन बच्चों, आयुष, आहान और पीयूष पर छत पर जाकर धारदार हथियार से हमला कर दिया.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-यूपी : बदायूं में दो मासूमों की हत्या, पुलिस एनकाउंटर में मारा गया आरोपी, इलाके में तनाव

साजिद ने पुलिस पर भी किया हमला

पुलिस के मुताबिक, साजिद के हमले में विनोद के 13 साल के बेटे आयुष और 7 साल के बेटे आहान की मौत हो गई. वहीं 6 साल के पीयुष को हल्की चोट आई है, उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है. बच्चों की हत्या के बाद साजिद भागने की कोशिश कर रहा था, इसी दौरान पुलिस ने उसे पकड़ने की कोशिश की. लेकिन उसने पुलिस पर भी हमला करने की कोशिश की. पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए मुठभेड़ में साजिद को मार गिराया. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, चुनाव के मद्देनजर पहले से ही वहां फोर्स मौजूद थी. कुछ लोगों ने इस घटना का विरोध किया लेकिन उन्हें समझाकर  बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. एडीजी बरेली, आईजी राकेश सिंह मौके पर मौजूद हैं और इलाके में शांति व्यवस्था फिलहाल कायम है.

यह भी पढ़ें :-  गणतंत्र दिवस परेड: दिल्‍ली-पंजाब की झांकियां खारिज होने पर AAP और BJP आमने-सामने, केंद्र पर बदला लेने का आरोप

पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक की जांच के मुताबिक बच्चों की हत्या के इकलौते आरोपी साजिद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है. बता दें कि बदायूं में कल हुए एनकाउंटर में एक इंस्पेक्टर को भी गोली लगी है. दो बच्चों की हत्या के आरोपी ने पुलिस से घिरने के बाद एनकाउंटर के वक्त थाना सिविल के प्रभारी गौरव बिश्नोई पर गोली चला दी थी. घायल इंस्पेक्टर का इलाज अस्पताल में चल रहा है.

बच्चों की मां से आरोपी ने मांगे 5 हजार रुपए

पीड़ित विनोद कुमार के मुताबिक, साजिद ने घर के भीतर घुसकर 5000 रुपए मांगे, उसने कहा था कि उसकी प्रेग्नेंट पत्नी अस्पताल में भर्ती है. इसके बाद बच्चों की मां संगीता ने तुरंत अपने पति विनोद को कॉल किया. जिसके बाद उसने पति ने साजिद को 5 हजार रुपए देने की बात कही. जिसके बाद संगीता ने साजिद से चाय के लिए पूछा. इस पर साजिद ने उसे बताया कि अस्पताल पहुंचने में अभी दो घंटे हैं. संगीता जैसे ही चाय बनाने गई इसी बीच साजिद ने बड़े बेटे आयुष से उसे मम्मी का पार्लर दिखाने को कहा.

जैसे ही आयुष उसे पार्लर दिखाने के लिए दूसरे फ्लोर पर लेकर गया वैसे ही साजिद ने लाइट बंद कर चाकू से काटकर आयुष की हत्या कर दी. इसी बीच छोटा बेटा आहान जैसे ही पानी लेकर पहुंचा साजिद ने उसे भी पकड़कर मार दिया. साजिद ने पीयूष पर भी हमला करने की कोशिश की. उसके अंगूठे में चाकू लगा और सर पर थप्पड़ मारा गया, लेकिन वो वहां से भागने में कामयाब हो गया. इस बीच साजिद अपने दोस्त जावेद के साथ बाइक पर बैठकर वहां से भाग गया.

यह भी पढ़ें :-  अयोध्या में आज योगी कैबिनेट की बैठक, 12 से अधिक महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button