देश

Explainer : पिछले एक साल में कैसे भारत-यूएई संबंधों ने नई ऊंचाइयों को छुआ?

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 2 दिनों की अपनी यात्रा पर मंगलवार को UAE पहुंचेंगे. जहां वह अबू धाबी में निर्मित भव्य बीएपीएस मंदिर का 14 फरवरी को उद्घाटन करेंगे. पीएम मोदी का अबू धाबी में मंगलवार को  ‘अहलान मोदी’ कार्यक्रम भी होगा. अरब भाषा में ‘अहलान मोदी’ का मतलब ‘हैलो मोदी’ है. पीएम मोदी के कार्यकाल में खासकर पिछले एक साल में भारत और यूएई के रिश्तों में काफी निकटता देखने को मिली है. दोनों ही देश कई मुद्दों पर मिलकर काम करने के लिए तैयार हुए हैं. 

यह भी पढ़ें

पिछले एक साल में 5 उच्च स्तरीय यात्राएं हो चुकी हैं

भारत और यूएई के रिश्ते को अगर देखें तो पिछले एक साल में दोनों ही देशों के बीच  5 उच्च स्तरीय यात्राएं हो चुकी हैं. पीएम मोदी जुलाई 2023 में द्विपक्षीय यात्रा पर यूएई पहुंचे थे और अबू धाबी में यूएई के राष्ट्रपति एचएच शेख मोहम्मद बिन जायद से मुलाकात की थी. प्रधानमंत्री मोदी दुबई में COP28 में भाग लेने के दौरान भी 30 नवंबर और 01 दिसंबर 2023 को संयुक्त अरब अमीरात पहुंचे थे. इस दौरान भी पीएम मोदी ने संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति महामहिम शेख मोहम्मद बिन जायद और उपराष्ट्रपति से मुलाकात की थी.

संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद ने जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए सितंबर 2023 में भारत का दौरा किया था. राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद जनवरी 2024 में 10वें वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक शिखर सम्मेलन के मुख्य अतिथि के रूप में भी गुजरात पहुंचे थे.

भारत की अध्यक्षता के दौरान संयुक्त अरब अमीरात को G20 के लिए विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में आमंत्रित किया गया था. भारत के सक्रिय समर्थन से, संयुक्त अरब अमीरात 01 जनवरी 2024 को ब्रिक्स में सदस्य के रूप में शामिल हुआ. 

Latest and Breaking News on NDTV

व्यापार के क्षेत्र में सामने आए दोनों देश

व्यापार के क्षेत्र में भी दोनों देशों के संबंधों में हाल के दिनों में तेजी देखने को मिली है. सीमा पार लेनदेन के लिए रुपया और दिरहम के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए दोनों देशों के बीच सहमति बनी. भारत में वित्त वर्ष 2022-23 के लिए, यूएई 3.5 अरब डॉलर का निवेश करने वाला चौथा सबसे बड़ा देश बन गया. 10 जनवरी 2024 में संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति एचएच शेख मोहम्मद बिन जायद की गुजरात यात्रा के दौरान कई समझौतों पर सहमति बनी. 

Latest and Breaking News on NDTV

उर्जा के क्षेत्र में हुए कई समझौते

2026-39 तक 14 साल की लंबी अवधि के सौदे के तहत 1.2 एमएमटी एलएनजी खरीदने के लिए IOCL और ADNOC के बीच समझौते हुए हैं. यह भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच पहला दीर्घकालिक एलएनजी अनुबंध है, जिससे संयुक्त अरब अमीरात इस क्षेत्र का दूसरा देश बन गया है. जनवरी 2024 में, अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी (एडीएनओसी) गैस ने गेल इंडिया को 0.5 मिलियन मीट्रिक टन प्रति वर्ष (mmtpa) एलएनजी की आपूर्ति के लिए 10 साल के समझौते पर हस्ताक्षर किए. ग्रीन हाइड्रोजन के क्षेत्र में सहयोग और निवेश को बढ़ावा देने के लिए भी दोनों देशों के बीच जनवरी 2023 में समझौते हुए हैं. 

Latest and Breaking News on NDTV

दोनों देशों ने किया संयुक्त सैन्य अभ्यास

रक्षा के क्षेत्र में भी दोनों देशों के बीच पिछले एक साल में कई काम हुए हैं. जनवरी 2024 में, पहला भारत-यूएई द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास डेजर्ट साइक्लोन राजस्थान में आयोजित किया गया. 21 जनवरी 2024 को डेजर्ट नाइट एक्सरसाइज नामक पहला त्रिपक्षीय अभ्यास जिसमें भारत, संयुक्त अरब अमीरात और फ्रांस की वायु सेनाएं शामिल थीं, संयुक्त अरब अमीरात में अल धफरा एयरपोर्ट पर हुआ.  हाल ही में, EDGE और HAL ने एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया जिसमें मिसाइल प्रणालियों के संयुक्त डिजाइन और विकास सहित सहयोग के क्षेत्रों में दोनों एक दूसरे को सहयोग करेंगे. 

यह भी पढ़ें :-  जबलपुर में पीएम मोदी के रोड शो के दौरान आदिवासी समूहों ने नृत्य कर किया स्वागत, ‘मेरा परिवार मोदी का परिवार’ की तख्तियां लेकर पहुंचे कई लोग

ये भी पढ़ें-:

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button