देश

गुरुग्राम: मां, पत्नी और बच्चों के सामने व्यापारी की गोली मारकर हत्या

सचिन की घायल मां ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि सचिन की मौके पर ही मौत हो गई.

गुरुग्राम :

गुरुग्राम में एक व्यापारी की उसकी मां, पत्नी और दो छोटे बच्चों के सामने हत्या कर दी गई. व्यापारी पर तीन लोगों ने अंधाधुंध फायरिंग की. ये दिल दहला देने वाली हत्या सीसीटीवी में कैद हुई है. व्यापारी की मां ने अपने बेटे को बचाने की कोशिश भी की. लेकिन इस दौरान मां के पैर में एक गोली लग गई. हरियाणा के रोहतक में हुई हत्या की ज़िम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्य रोहित गोदारा ने ली है. 

यह भी पढ़ें

व्यापारी की पहचान सचिन के रूप में हुई है, जो अपनी मां, पत्नी और बच्चों के साथ एक शादी में शामिल होने के लिए पंजाब के संगरूर जा रहा था. 29 फरवरी की शाम को परिवार रोहतक के लाखन माजरा में एक रेस्तरां में रुका था. सचिन पर ये हमला उस वक्त किया गया जब वो रेस्तरां से बाहर अपनी एसयूवी की ओर जा रहा था. सड़क किनारे इंतज़ार कर रही एक सफेद कार एसयूवी की ओर बढ़ी.  सचिन की पत्नी कुछ दूरी पर अपने दोनों बच्चों के साथ थी.

सीसीटीवी में सचिन की पत्नी को चिल्लाते हुए सुना जा सकता है, “देखो, वे उसे लूट रहे हैं”. इसके बाद दो लोगों ने ड्राइवर की सीट पर बैठे सचिन पर गोलियां चला दीं. जबकि पत्नी बच्चों को बचाने में लगी.  सचिन की मां गोली मार रहे लोगों की ओर दौड़ी और इस दौरान उन्हें भी गोली लग गई.

“मेरे भाई को 10-15 बार गोली मारी”

सचिन की घायल मां ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि सचिन की मौके पर ही मौत हो गई.  हमलावर उसका सेलफोन भी छीन ले गए. सचिन के छोटे भाई अमित ने बताया कि मेरी मां को भी पैर में गोली मारी गई है. मेरे भाई को 10-15 बार गोली मारी गई.  वह एक स्क्रैप डीलर और प्रॉपर्टी डीलर था. रोहित गोदारा द्वारा सचिन के सट्टेबाज होने का दावा करने के बारे में पूछे जाने पर अमित ने कहा, “मुझे ऐसी किसी बात की जानकारी नहीं है. हम न्याय चाहते हैं.”

यह भी पढ़ें :-  राधा मोहन दास अग्रवाल के मनाने के बावजूद भाजपा से बागी ईश्वरप्पा लोकसभा चुनाव लड़ने पर अड़े

रोहित गोदारा ने एक वीडियो जारी कर कहा, जिस व्यक्ति को गोली मारी गई थी वह एक सट्टेबाज था और उनके प्रतिद्वंद्वियों से कौशल चौधरी-अमित डागर गैंग से जुड़ा हुआ था.

वायरल हो रहे एक वीडियो में, खुद को गैंगस्टर रोहित गोदारा बताने वाले व्यक्ति ने कहा कि “हम इसकी पूरी जिम्मेदारी लेते हैं. वह हमारे दुश्मन कौशल चौधरी और अमित डागर का साथी था.” रोहित गोदारा ने राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रमुख सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी भी ली थी.

नेपाल सीमा से गिरफ्तार हुए आरोपी

पुलिस के अनुसार कथित हत्यारे जयपुर के एक सुधार गृह से भाग गए थे और उन्हें सचिन की हत्या के लिए पैसे दिए गए थे. उन्हें बुधवार रात भागने की कोशिश करते समय नेपाल सीमा के पास से गिरफ्तार किया गया है.

ये भी पढ़ें- दिल्ली में जिम मालिक की शादी के कुछ घंटे पहले ही चाकू मारकर हत्या, पिता गिरफ्तार

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button