दुनिया

सीरिया: ईरानी दूतावास के पास इजरायल का हवाई हमला, IRG के कमांडर समेत 5 लोगों की मौत

दमिश्क:

इजरायल और फिलिस्तीनी संगठन हमास (Israel-Hamas War) के बीच 7 अक्टूबर से जंग चल रही है. इस जंग में ईरान-लेबनान जैसे दूसरे देश भी कूद पड़े हैं. इस बीच सोमवार (1 अप्रैल)  को सीरिया (Iseael Attack in Syria)की राजधानी दमिश्क में ईरानी दूतावास की एक इमारत को निशाना बनाया गया. ये हमले इजरायल की ओर से किए गए. सीरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी SANA ने कहा, “इजरायली हमले ने दमिश्क के पास माजेह में ईरानी वाणिज्य दूतावास की एक इमारत को निशाना बनाया.” न्यूज एजेंसी ‘रॉयटर्स’ की जानकारी के मुताबिक, इन हमलों में ईरान रिवोल्यूशनरी गार्ड के कमांडर (IRG) के कमांडर मोहम्मद रेजा जाहादी समेत 5 डेप्लोमेट की मौत हो गई है. 

यह भी पढ़ें

ईरानी मीडिया ने बताया कि दमिश्क में हुए हमलों ने परिसर की एक इमारत को पूरी तरह से नष्ट कर दिया. दमिश्क में ईरान के राजदूत होसैन अकबरी और उनके परिवार को इजरायली हमले में कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. दमिश्क में ईरान के राजदूत होसैन अकबरी ने सरकारी टीवी पर प्रसारित एक इंटरव्यू में कहा, “F-35 लड़ाकू विमानों से हमले किए गए. इनमें कम से कम 5 लोग मारे गए.” हालांकि, ईरान के राजदूत ने विमान के बारे में अपनी जानकारी का स्रोत नहीं बताया.

बताया जा रहा है कि जाहादी IRG के एयर और ग्राउंड फोर्स के भी कमांडर रह चुके थे. जाहादी ईरान और लेबनान के हिजबुल्लाह के बीच की कड़ी थे. अब तक ईरान इजरायल और हमास की जंग में सीधे तौर पर नहीं कूदा है, लेकिन जाहादी के मारे जाने से ईरान की तरफ से पलटवार की आशंका है. 

इजरायल ने हिजबुल्लाह के ठिकानों पर किए थे हमले

इसके पहले इजरायल ने लेबनान से ऑपरेट होने वाले आतंकी संगठन हिजबुल्लाह पर हमले किए थे. लेबनान जंग शुरू के बाद से लगातार हमास का साथ देते हुए इजरायल पर मिसाइल हमले कर रहा है. जिसके जवाब में इजरायली डिफेंस फोर्स ने हिजबुल्लाह की लॉन्च साइट समेत कई ठिकानों पर जवाबी कार्रवाई की थी.

यह भी पढ़ें :-  हमास क्‍या चाहता है... इज़राइल के खिलाफ उसकी 'जंग' के कौन-कौन हैं समर्थक

भारत ने अपने नागरिकों को किया था रेस्क्यू

इजरायल-हमास जंग शुरू होने के बाद भारत ने ‘ऑपरेशन अजय’ चलाकर इजरायल में फंसे भारतीय नागरिकों को निकाला था. इस मिशन का मकसद उन भारतीयों की मदद करना था, जो वतन वापस लौटना चाहते थे. 

बता दें कि हमास ने 7 अक्टूबर 2023 को गाजा पट्टी से इजरायल की तरफ 5000 से ज्यादा रॉकेट हमले किए थे. इसके बाद दोनों के बीच जंग शुरू हो गई. इजरायल के खिलाफ ऑपरेशन को हमास ने ‘अल-अक्सा फ्लड’ नाम दिया. इसके जवाब में इजरायल की सेना ने हमास के खिलाफ ‘सोर्ड्स ऑफ आयरन’ ऑपरेशन शुरू किया है.

ये भी पढ़ें:-

“मुक्के मारे, घसीटा और बाथटब में…” : कैसे हमास ने महिला कैदियों का किया यौन शोषण, इजरायली वकील ने बयां की आपबीती

सीरिया के अलेप्पो में इजरायली हमलों में कम से कम 42 लोगों की मौत : वॉर मॉनिटर

मदद न रोके इजरायल : भूख से तड़पते गाजा के लिए ‘उम्मीद की किरण’ ICJ का आदेश

बेंजामिन नेतन्याहू की हुई ‘सफल’ हर्निया सर्जरी : इजरायल पीएम ऑफिस

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button