देश

"अपराध करेंगे तो भुगतना भी…": बदायूं में 2 बच्चों की गला रेतकर हत्या करने वाले साजिद की मां

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के बदांयू में मंगलवार को नाई की दुकान चलाने वाले साजिद नाम के एक शख्स ने दो बच्चों की निर्मम हत्या (Badaun Double Murder)  कर दी. जिसके बाद पुलिस ने साजिद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया. आरोपी साजिद की मां ने भी पीड़ित परिवार के प्रति सहानभूति जताई है. मुठभेड़ में मारे गए साजिद की मां का कहना है कि वह पीड़ित परिवार के लिए संवेदना महसूस करती है.  वहीं बेटे के एनकाउंटर पर साजिद की मां ने कहा कि उसके बेटे को वही मिला जिसका वह हकदार था.

यह भी पढ़ें

ये भी पढे़ं-EXCLUSIVE: “मेरे बच्‍चों को छत पर ले गया था, फिर…”, मां ने The Hindkeshariको बताया – साजिद ने क्‍या-क्‍या किया | कैसे हुआ एनकाउंटर

“बेटों के दिमाग में क्या चल रहा था, नहीं पता”

बदायूं पुलिस के मुताबिक बच्चों की हत्या के बाद साजिद पुलिस पर गोली चलाकर भागने की कोशिश कर रहा था. उसी दौरान उसे मुठभेड़ में मार गिराया गया. हालांकि उसका भाई और मामले में सह-आरोपी जावेद फरार है. साजिद की मां नाजिन का कहना है कि उन्हें इस बात का कोई अंदाज़ा नहीं है कि किस वजह से उनके बेटों ने इस निर्मम अपराध को अंजाम दिया. उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता कि उनके दिमाग में क्या चल रहा था. दोनों ने  नाश्ता किया और करीब 7 बजे घर से निकल गए. मुझे नहीं पता कि क्या हुआ. घर पर कोई तनाव नहीं था.”

“पीड़ित परिवार के प्रति मेरे दिल में संवेदना”

साजिद की मां ने बताया कि दोनों बेटे काफी समय से विनोद और संगीता के पड़ोस में अपनी नाई की दुकान चला रहे थे. उन्होंने कहा, “उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी. अगर हम इलाके से कुछ भी खरीदते थे, तो वे उसे हमारे घर पहुंचा देते थे.” नाजिन ने कहा कि वह पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना रखती हैं और उनके बेटे साजिद को अपनी करनी का परिणाम भुगतना पड़ा है. उन्होंने कहा, “अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया होता तो उन्हें यह सब नहीं भुगतना पड़ता. उसके साथ जो हुआ वह सही है. अगर आप अपराध करेंगे तो भुगतना भी पड़ेगा.”

यह भी पढ़ें :-  "मैंने कुछ नहीं किया...", सरेंडर करने बरेली पहुंचा बदायूं के मासूमों के हत्यारे का भाई जावेद

गर्भवती नहीं थी साजिद की पत्नी, मां का खुलासा

साजिद की मां ने बताया कि उसकी पत्नी गर्भवती नहीं है “उनके दो बच्चे थे, लेकिन वे मर चुके हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनका दूसरा बेटा जावेद कहां है, वह नहीं जानती कि जावेद कहां है. बता दें कि बच्चों की हत्या करने से पहले साजिद उनके घर पत्नी के गर्भवती होने का हवाला देकर 5 हजार रुपए मांगने पहुंचा था. साजिद ने बच्चों की मां संगीत से कहा था कि उसकी पत्नी की डिलीवरी होने वाली है और उसे 5,000 रुपये उधार चाहिए. संगीता ने बताया कि साजिद के लिए उसने चाय बनाई. उसके बाद साजिद उसके बेटों को छत पर ले गया और उनका गला काट दिया. उसने तीसरे बच्चे पीयूष पर भी हमला किया, लेकिन वह समय रहते भागने में सफल हो गया.

“साजिद के साथ कोई विवाद नहीं था”

परिवार ने बताया कि बच्चों की हत्या करने के बाद साजिद और जावेद मौके से फरार हो गए. बाद में साजिद पुलिस मुठभेड़ में मारा गया. घटना के बाद गुस्साए स्थानीय निवासियों ने उसकी नाई की दुकान में आग लगा दी. वहीं बच्चों के पिता विनोद का कहना है कि उनका साजिद के साथ कोई विवाद नहीं था. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और अब जावेद की तलाश कर रही है. साजिद के पिता से भी पूछताछ की जा रही है.

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button