देश

लोकसभा चुनाव : ओडिशा में BJP-BJD गठबंधन को लेकर बातचीत अटकी, जानें कहां फंसा पेंच?

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ”बीजद लगभग 75 प्रतिशत विधानसभा सीट की मांग कर रही है, जो हमें स्वीकार नहीं है.”

उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति राज्य में भाजपा की संभावना पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगी. 

दूसरी ओर, भाजपा ने ओडिशा की 21 लोकसभा सीट में से 14 सीट मांगी थीं, जिसे बीजद ने खारिज कर दिया है. 

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजद ने 12 सीट पर जीत हासिल की थी, जबकि भाजपा ने आठ सीट हासिल की थीं. 

बीजद नेता ने कहा, “अगर हम 10 से कम लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ते हैं, तो यह हमारे लिए नुकसानदेह होगा.”

भाजपा नेताओं से बातचीत पर साधी चुप्‍पी 

बीजद अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के करीबी सहयोगी – वी के पांडियन और प्रणब प्रकाश दास शुक्रवार दोपहर दिल्ली से लौट आए. वह बृहस्पतिवार शाम को भाजपा नेतृत्व से बातचीत करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी गए थे. 

पांडियन और दास ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर बीजद मुख्यालय में आयोजित एक समारोह में भाग लिया, लेकिन बृहस्पतिवार रात को दिल्ली में भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ हुई चर्चा पर चुप्पी साधे रहे.

भाजपा की ओडिशा इकाई के नेता अपने प्रदेश अध्यक्ष मनमोहन सामल के नेतृत्व में दिल्ली में रुके हुए हैं और उन्होंने राज्य चुनाव प्रभारी और राज्यसभा सदस्य विजय पाल सिंह तोमर के आवास पर कई केंद्रीय नेताओं के साथ बैठकें कीं. 

ओडिशा प्रदेश भाजपा के महासचिव पृथ्वीराज हरिचंदन ने कहा, ”आज दोपहर तक गठबंधन पर कोई फैसला नहीं लिया गया.”

11 सालों तक गठबंधन में रहे दोनों दल 

बीजद और भाजपा 1998 से 2009 के बीच लगभग 11 वर्षों तक गठबंधन में रहे और उन्होंने तीन लोकसभा और दो विधानसभा चुनाव एक साथ लड़े. 

यह भी पढ़ें :-  दिल्ली हज कमेटी ने हज यात्रियों के लिए लगाया मेडिकल कैंप, सस्ती दरों पर की जा रहीं जांच

इससे पहले, बीजद और भाजपा के बीच सीट बंटवारे के तहत बीजद ने 84 विधानसभा और 12 लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा था, वहीं भाजपा ने 63 विधानसभा और नौ लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा था. 

दोनों दलों के गठबंधन ने 1998 में 21 में से 17 लोकसभा सीट पर जीत हासिल की थी. वहीं, 1999 के आम चुनाव में गठबंधन को 19 सीट पर जीत मिली थी, जो 2004 के लोकसभा चुनाव में घटकर 18 हो गई थी. 

ये भी पढ़ें :

* TDP 6 साल बाद NDA में फिर वापसी को तैयार, BJP संग गठबंधन पर आज लग सकती है मुहर-सूत्र

* BJD ने BJP के साथ गठबंधन का किया इशारा, 15 साल पहले इस वजह से NDA से तोड़ा था नाता

* ओडिशा में BJD और BJP ने एक-दूसरे पर गठबंधन की अफवाह उड़ाने का लगाया आरोप

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button