देश

किसी को डरने की जरूरत नहीं… : PM मोदी ने बताया 2047 तक भारत कैसे बनेगा दुनिया की तीसरी बड़ी इकोनॉमी

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 2047 तक भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी (India Economy) बनाने का विजन रखा है. इंडियन इकोनॉमी को लेकर सकारात्मक रुख जताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आने वाले पांच साल में भारत 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बन जाएगा. न्यूज एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने विपक्ष पर यह डर फैलाने के लिए भी सवाल उठाया कि अगर बीजेपी तीसरी बार सत्ता में आई, तो वह संविधान बदलने की कोशिश करेगी.

यह भी पढ़ें

पीएम मोदी ने कहा, “जब मैं कहता हूं कि मेरे पास बड़ी योजनाएं हैं, तो किसी को डरना नहीं चाहिए. मैं किसी को डराने या चकमा देने के लिए फैसले नहीं लेता. मैं देश के पूरे विकास के लिए फैसले लेता हूं.” मोदी ने कहा, “सरकारें हमेशा कहती हैं कि हमने सब कुछ किया है. लेकिन मुझे विश्वास नहीं है कि मैंने सब कुछ किया है. मैंने सब कुछ सही दिशा में करने की कोशिश की है. फिर भी मुझे बहुत कुछ करने की जरूरत है. अभी बहुत काम बाकी है. क्योंकि मैं देख रहा हूं कि मेरे देश की कितनी जरूरतें हैं. हर परिवार की अपनी जरूरतें हैं. इसीलिए मैं कहता हूं कि विकास का ये एक ट्रेलर है… अभी पूरी फिल्म बाकी है.”

अभी भारत दुनिया की पांचवीं बड़ी इकोनॉमी है. भारत से आगे अमेरिका, चीन, जर्मनी और जापान हैं. भारत के 2026 में जापान और 2027 में जर्मनी से आगे निकलने का अनुमान है. जापान फिलहाल मंदी में फंसा है जबकि जर्मनी की इकोनॉमी भी संघर्ष कर रही है. इस बीच ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म Jefferies ने इंडियन इकोनॉमी को लेकर सकारात्मक रुख जताते हुए कहा कि आने वाले पांच साल में देश की इकोनॉमी पांच ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगी. इस लिहाज से भारत 2027 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी बन जाएगी.

2047 विज़न को पूरा करने के लिए शुरू हो गया काम

इंडियन इकोनॉमी पर बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “जहां तक 2047 विज़न का सवाल है? तो इसे पूरा करने की नींव रख दी गई है. मैं लंबे समय तक गुजरात का मुख्यमंत्री रहा हूं. मैं अनुभव का आदी हूं. बार-बार चुनाव होने से मेरे राज्य से 30- 40 सीनियर अच्छे अधिकारी इलेक्शन ड्यूटी के लिए ऑब्जर्वर बनकर जाते थे. वो 40-50 दिन बाहर रहते थे. तब मुझे चिंता होती थी कि मैं सरकार कैसे चलाऊंगा? क्योंकि देश में ऐसे चुनाव होते रहते हैं और मेरे अधिकारी ऑब्जर्वर रहते हैं. तब मैंने सोचा कि मैं ऐसे समय को वेकेशन के रूप में खत्म नहीं करूंगा. इसलिए मैं 100 दिनों की भी योजना बनाकर चलता था.”

यह भी पढ़ें :-  दो दिन में एक बार स्नान, सप्ताह में एक दिन बाहर खाना... : बेंगलुरु को जल संकट से बचाने में जुटे लोग
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “2047 विकसित भारत प्रोजेक्ट पर काम पिछले दो साल से चल रहा है. यहां तक कि मैंने अपने तीसरे टर्म में 100 दिनों के लिए एक टारगेट भी तय किया है. मैं पिछले दो साल से 2047 विजन पर काम कर रहा हूं. इसके लिए मैंने देश भर के लोगों से राय और सुझाव मांगे. मैंने 15 लाख से ज्यादा लोगों से सुझाव लिए हैं. उनसे जाना कि वे आने वाले 25 साल में भारत को कैसे देखना चाहते हैं.” 

प्लानिंग के लिए AI की ली मदद

पीएम मोदी ने कहा, “कई साल तक मैंने देश की यूनिवर्सिटी से संपर्क में रहा. मैंने अलग-अलग NGO से संपर्क किया. 15-20 लाख लोगों ने अपने इनपुट दिए. फिर मैंने AI की मदद ली. इस पर काम करने के लिए हर डिपार्टमेंट में अधिकारियों की एक डेडिकेटेड टीम बनाई. मैं भी उनके साथ बैठा. मीटिंग में टीम ने दो से ढाई घंटे तक प्रेजेंटेशन दिया. काम शुरू हो गया है.”

मोदी ने कहा, “2047 में हम देश की आजादी के 100 साल मनाएंगे. स्वाभाविक रूप से इस तरह के मील के पत्थर के दौरान यह हर किसी के मन में नया उत्साह लाता है. एक नया संकल्प पैदा करता है… मेरी समझ से हर संस्थान, हर किसी का एक लक्ष्य होना चाहिए. चूंकि मैं प्रधानमंत्री हूं, लिहाजा 2047 तक मैं अपने देश के लिए इतना कुछ करूंगा, जिसका देशवासियों को फायदा होगा. देश में एक प्रेरणा पैदा होनी चाहिए. आजादी की 100वीं वर्षगांठ अपने आप में एक बहुत बड़ी प्रेरणा है.”

असफल कांग्रेस मॉडल और बीजेपी मॉडल के बीच का चुनाव

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान लोकसभा चुनाव पर भी बात की. उन्होंने कहा कि वर्तमान लोकसभा चुनाव में मतदाता के सामने विकल्प असफल कांग्रेस मॉडल और बीजेपी मॉडल के बीच है. मोदी ने कहा, “अगर हम 2024 के चुनावों को देखें, तो देश के सामने एक अवसर है. चुनाव कांग्रेस सरकार और BJP सरकार के मॉडल का है. कांग्रेस ने 5-6 दशकों तक काम किया है. मैंने सिर्फ 10 साल ही काम किए हैं. इनकी तुलना करें… चाहे किसी भी क्षेत्र में कुछ कमियां हों, हमारे प्रयासों में कोई कमी नहीं होगी.”

यह भी पढ़ें :-  राहुल गांधी अमेठी की बजाय रायबरेली से क्यों लड़ रहे हैं चुनाव? ये 5 वजह खास
पीएम मोदी ने विकसित भारत के लक्ष्य को हासिल करने के लिए देश में विकास की गति और पैमाने को बढ़ाने की भी प्रतिबद्धता जताई. उन्होंने कहा, “अगले कार्यकाल में मुझे स्पीड के साथ-साथ स्केल भी बढ़ाना है. यही मेरा लक्ष्य है. जब देश की जनता देश चलाने की जिम्मेदारी हमें सौंपती है, तो हमें सिर्फ और सिर्फ देश के लोगों पर ध्यान केंद्रित करना है.”

पीएम ने आगे कहा, “मैं देश को मजबूत बनाने के लक्ष्य के साथ काम कर रहा हूं. जब देश मजबूत होता है तो हर किसी को इसका लाभ अनुभव होता है. हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं, हम ईमानदारी से काम कर रहे हैं. इन चीजों का प्रभाव पड़ता है. इसलिए 2024 के चुनाव में हम अपना ट्रैक रिकॉर्ड लेकर आए हैं.” पीएम ने आगे दोहराया कि 2019 में भी उनकी सरकार ने अपने पहले 100 दिनों में कई उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की थीं. तीसरे टर्म में भी 100 दिनों का लक्ष्य पूरी सफलता के साथ हासिल किया जाएगा.

 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button