दुनिया

"वह 26 साल की थी, कीमत ही क्या थी": भारतीय छात्रा की मौत के बाद US पुलिसकर्मी ने क्या कहा?

सिएटल में भारतीय छात्रा जाह्नवी कंडुला की मौत पर अमेरिकी पुलिसकर्मी.

नई दिल्ली:

अमेरिका के सिएटल में भारतीय छात्रा जाह्नवी कंडुला की तेज रफ्तार पुलिस कार की चपेट में आने से जनवरी में मौत (US Jaahnavi Kandula Death) हो गई थी. लेकिन अब आरोपी पुलिस अधिकारी को किसी भी आरोप का सामना नहीं करना पड़ेगा. अधिकारियों का कहना है कि सबूतों की कमी की वजह से आरोपी पुलिस अधिकारी को आपराधिक आरोपों को सामना करनी करना पड़ेगा. बता दें कि पिछले साल 23 जनवरी को सिएटल में सड़क पार करते समय 23 साल की जाह्नवी कुंडुला की पुलिस की तेज रफ्तार कार की चपेट में आने से मौत हो गई थी. अब मौत का मजाक उड़ाने वाले पुलिसकर्मी की सफाई सामने आई है. 

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-US में भारतीय छात्रा की मौत पर हंस रहा था पुलिसवाला, सिएटल मेयर और पुलिस चीफ ने मांगी माफी

छात्रा की मौत पर हंसने का वीडियो हुआ था वायरल

सिएटल पुलिस अधिकारी केविन डेव कथित तौर पर नशीली दवाओं के ओवरडोज़ की कॉल की खबर के बाद तेज स्पीड में अपनी गाड़ी दौड़ा रहे थे, इसी दौरान जाह्नवी कार की चपेट में आई और 100 फीट दूर जा गिरी. हादसे के बाद जाह्नवी को हार्बरव्‍यू मेडिकल सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था. वहीं भारतीय छात्रा की मौत पर हंसने और मजाक उड़ाने वाले पुलिसकर्मी डेनियल ऑडरर का वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो में ये कहते हुए भी सुना गया था कि, “वैसे भी वह 26 साल की थी, उसकी लिमिटेड वैल्यू थी, बस 11,000 अमेरिकी डॉलर का एक चेक लिखें.” इस तरह की असंवेदनशील टिप्पणियों पर लोगों के गुस्से के बीच पुलिस अधिकारी को गश्ती ड्यूटी से हटा दिया गया था. 

यह भी पढ़ें :-  हमले के बाद पाकिस्तान की ईरान से अपील- संयम से काम लें, माहौल बिगाड़ने वाला कदम न उठाएं

हंसने वाले पुलिसकर्मी डेनियल ऑडरर की सफाई

न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, डेनियल ऑडरर ने पुलिस जवाबदेही कार्यालय के निदेशक गीनो बेट्स को लिखी अपनी चिट्ठी में कहा, “उस समय मेरा मानना ​​था कि बातचीत निजी थी और रिकॉर्ड नहीं की जा रही थी. यह बातचीत मेरे कर्तव्यों के दायरे में भी नहीं थी.” बता दें कि डेनियल ऑडरर को रिकॉर्डिंग वीडियो में यह कहते हुए सुना जा सकता है कि ‘हां, बस एक चेक काटो, 11,000 अमेरिकी डॉलर का. वैसे भी वह 26 साल की थी,  उसकी लिमिटेड कीमत थी.’  अब अधिकारी ने ऑडरर का एक पत्र जारी कर कहा वकलों का मजाक उड़ाते हुए टिप्पणियां की जा रही थीं. 

 पुलिस जवाबदेही कार्यालय को लिखी चिट्ठी में ऑडरर ने कहा कि उनको इस तरह की घटनाओं से जुड़ी मुकदमेबाजी में दो पक्षों के बीच में होने वाली डील पर हंसी आती है. उन्होंने लिखा कि घर जाते समय माइक सोलन को उन्होंने कॉल किया, ताकि वह घटना के बारे में उनको जानकारी दे सकें. फोन कॉल अनजाने में मेरे बीडब्ल्यूवी  पर रिकॉर्ड हो गया था, जो अचानक चालू हो गया था. मेरी गश्ती कार में बातचीत हुई थी. उस समय वह कार में अकेले थे. कॉल के दौरान माइक ओलन ने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण है कि अब वकील ‘इंसानी लाइफ की कीमत’ पर बहरस करेंगे. ऑडरर ने कहा कि माइक सोलन ने उनसे कहा कि ऐसे मामलों में वकील किस तरह की बेकार की दलीलें दे सकते हैं और कैसी अजीब बातें कर सकते हैं. 

“टिप्पणियों का मकसद वकीलों का मजाक उड़ाना”

इस बात के जवाब में उन्होंने कहा कि वह सिर्फ 26 साल की थी, 11000 डॉलर का एक चेक काटो, उसकी जान की कीमित ही क्या थी. उनकी इस टिप्पणी का मकसद सिर्फ वकीलों का मजाक बनाना था. वह सिर्फ ये बताने की कोशिश कर रहे थे कि वकील बहस के दौरान क्या दलील दे सकते हैं. उनका कहना है कि बिना इसका कमसद समझे उनकी टिप्पणी को गलत सेंस में लिया जा रहा है. 

यह भी पढ़ें :-  Explainer : भारतीय छात्रा की हत्या करने वाले अमेरिकी पुलिसकर्मी को कोर्ट ने क्यों रिहा कर दिया?

सिएटल के मेयर ने मांगी माफी

बता दें कि जाह्नवी कंडुला की मौत पर हंसने और मजाक उड़ाने वाले पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल होने के बाद सिएटल के मेयर ने भी भारतीय छात्रा की मौत पर अपना दुख जताया.  मेयर ब्रूस हैरेल ने डैनियल ऑडरर की असंवेदनशील हरकत के लिए भारतीय समुदाय से माफी मांगते हुए  कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण और असंवेदनशीन टिप्पणियों की वजह से ही भारतीय समुदाय एकजुट हुआ है. उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि उनकी माफी भारतीय समुदाय तक पहुंच सके. साथ ही उन्होंने छात्रा की मौत पर संवेदना जाहिर की. 

 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button